शिक्षा प्रभाव

पिछले तीन वर्षों में शिक्षा इनिशिएटिव ने 25000 छात्रों को प्रभावित किया है और इस दौरान 812 से अधिक शिक्षकों को प्रशिक्षण भी उपलब्ध करवाया है, जिससे वह नयी तकनीकों के माध्यम से अपने पठन को अधिक प्रभावी बना सकते हैं| शिक्षा इनिशिएटिव 500 से ज्यादा विद्यालयों में काम करते हुए भारत को जिला दर जिला साक्षर करने में कार्यरत है|

0
विद्यालय
0
छात्र
0
अध्यापक
0
टीम के सदस्य

  शिक्षा इनिशिएटिव

शिक्षा इनिशिएटिव राज्य बोर्ड के पाठ्यक्रमपर आधारित, प्रौद्योगिकी की सहायता से प्राथमिक शिक्षा (कक्षा 1-5) में उच्च गुणवत्ता वाली आकर्षक पठनसामग्री के माध्यम से साक्षरता बढ़ाने का कार्यक्रम है| यह इंटरेक्टिव पठन सामग्री और समय-समय पर आकलनतथा शिक्षण को अधिक दिलचस्प, मजेदार और सीखने की प्रक्रिया को अत्यधिक प्रभावी बनाकर मौजूदा शैक्षिक चुनौतियों पर काबू पाने का प्रयास करता है।

आईसीटी के माध्यम से शैक्षणिक प्रक्रिया को अधिक प्रभावी करना

शिक्षकों को अभिनव मनोहन पठन तंत्र से लैस करना

कक्षा के वातावरण को ज्ञानार्जन के लिए और प्रभावशाली बनाना

शिक्षा को प्रोत्साहित करने के अलावा आवेदन संचालित ज्ञान पर ध्यान केंद्रित करवाना

  शिक्षा तंत्र

steps
कक्षा में छात्रों को शिक्षित करने के लिए और अपने मिशन में प्रभावी ढंग से निरक्षरता उन्मूलन करने के लिए शिक्षा इनिशिएटिव इन तीन चरणों का उपयोग करता है-

Use your own screenshot.

कार्यक्षेत्र की कहानियां

निरक्षरता का उन्मूलन और आजीवन शिक्षारत विद्यार्थी तैयार करना

This story is about one of the brightest student of Shivam Public School – Subhan who is seven years old and studies in Grade II. He lives with his parents and 2 siblings in Hasanpur, Sikandrabad, district Bulandshahr. His father works as a carpenter and mother is a housewife. Subhan, the youngest in all the … Continue reading Subhan, Grade II, Shivam Public School, Wair, Sikandrabad

Seema is a SHIKSHA+ instructor from Bishada village, Gautam Buddha Nagar. She has been engaged with SHIKSHA Initiative for last 2 years: During the 1st year as a volunteer and during the 2nd year as a SHIKSHA+ instructor. As a SHIKSHA+ instructor she uses an ICT based methodology to instil the fundamentals of reading, writing … Continue reading Seema, SHIKSHA+ Instructor


शिव नाडर फाउंडेशन

shivnadarशिव नाडर फाउंडेशन – शिव नादर,जो कि एचसीएल (६.३ अरब डॉलर कीवैश्विक प्रौद्योगिकी और आईटी उद्यम संस्था) अध्यक्ष हैं, के द्वारा १९९४ में स्थापित की गयी थी|खुद शिक्षा से लाभान्वित होकर श्री नाडर शिक्षा के महत्व को न सिर्फ़ समझते हैं बल्कि समर्थन भी करते हैं कि जनसांख्यिकीय लाभांश लेने के लिए शिक्षा अति महत्वपूर्ण है| उनके नेतृत्व में फाउंडेशन मुख्य रूप से शिक्षा के उत्कृष्ट और प्रतिष्ठित संस्थानों कोबनाने पर ध्यान केंद्र कर रहा है।

पिछले 21 वर्षों से फाउंडेशन समावेशी शिक्षा को बढ़ावा देने, रोजगार बाजार की विशिष्ट आवश्यकताओं के लिए उच्च शिक्षा को अधिक प्रभावी और गुणवत्ता उन्मुख बनाने, अनुसंधान पर ध्यान केंद्रित करने और वैश्विक और राष्ट्रीय महत्व की शोध पर कार्यरत है|अपनी स्थापना के समय से ही फाउंडेशन नेमात्रा की जगह गुणवत्ता पर ध्यान केंद्रित किया है।इसका उद्देश्य है समाज के सबसे वंचित वर्गों में से हर क्षेत्र में अधिनायक बनाना।

आगे पढ़ें

पिछली घटनाएं

17,

अक्टूबर 2019

Tree plantation drive at Sitapur

Showing its commitment towards conserving the environment, Shiksha Initiative launched a massive tree plantation drive in 6 blocks of Sitapur from 31st August-15th September,2019. Mr. Ajay Kumar, BSA, Sitapur initiated the drive by planting the saplings in primary school, Daudpur and primary school, Maholi in the presence of the Block Education Officer Pushpendra Jain, Kasmanda … Continue reading Tree plantation drive at Sitapur

आगे पढ़ें

13,

फ़रवरी 2018

Eye Check-up Camp in Centre of Excellence (CoE)

SHIKSHA+ is an adult literacy programme which uses an ICT approach to enhance the learning and instill learning retention among adults who have not attended a formal school. Learners in SHIKSHA+ platform vary in culture, age, socio-economic status, language, gender, ability/disability and personal interests. Age is a crucial factor in SHIKSHA+ that affect the learning … Continue reading Eye Check-up Camp in Centre of Excellence (CoE)

आगे पढ़ें